Soil Health Card Scheme

Objective:

The scheme aims at promoting soil test based and balanced use of fertilisers to enable farmers realise higher yields at lower cost.

इस योजना में किसानों को कम कीमत पर अधिक पैदावार सक्षम करने के लिए उर्वरकों की मिट्टी परीक्षण के आधार और संतुलित उपयोग को बढ़ावा देने लक्ष्य का रखा गया है |

 

Scheme:

Launched by the Government of India in February 2015. Under the scheme, the government plans to issue soil cards to farmers, which will carry crop-wise recommendations of nutrients and fertilisers required for the individual farms to help farmers to improve productivity through judicious use of inputs. Thereafter the experts will analyse the strength and weaknesses of the soil and suggest measures to deal with it. The result and suggestion will be displayed in the cards.

 

यह योजना फरवरी 2015 में भारत सरकार द्वारा शुरू की गयी। इस योजना के तहत सरकार किसानों को ‘ सोइल हेल्त कार्ड ’  आवंटित करेगी, जो उत्पादकता में सुधार में मदद करने के लिए आवश्यक पोषक तत्वों और उर्वरक के बारें में जानकारी दी जाएगी जिसके द्वारा विवेकपूर्ण निर्णय लेने में लाबदायक होगा | इसके बाद विशेषज्ञों मिट्टी की ताकत और कमजोरियों का विश्लेषण और इसके के लिए उपायों का सुझाव देगा। परिणाम और सुझाव कार्ड में प्रदर्शित किए जाएँगे ।

 

Procedure:

Visit govt. Of India’s official website (http://www.soilhealth.dac.gov.in/) to get information of your registered sample. Where you can track your sample as well. If you are facing any issues in this regards just write us: info@miitti.in we will be glab to help anyone in this regard.

 

भारत सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाए  (http://www.soilhealth.dac.gov.in/) अपने रिजिस्टर्ड नमूने की जानकारी के लिए, जहाँ आप अच्छी तरह से अपने नमूना ट्रैक कर सकते हैं। आप इस संबंध में किसी भी समस्या का सामना कर रहे हैं, बस हमें लिखें: info@miitti.in हमें  इस संबंध में किसी की मदद करने में खुशी होगी।

 

http://soilhealth.dac.gov.in/Account/Login

https://en.wikipedia.org/wiki/Soil_Health_Card_Scheme

 

Sample of Soil health card: